NEFT क्या है कैसे काम करता है? | What Is Neft In Hindi

हम सभी आए दिन NEFT का इस्तेमाल पैसे ट्रांसफर करने के लिए करते रहते हैं। लेकिन जो लोग नए हैं और जिनको बैंक ट्रांसफर और इंटरनेट बैंकिंग की जानकारी नहीं है उनको NEFT के बारे में बहुत ही कम पता होता है। जिस वजह से वह काफी गलतियां भी कर बैठते हैं। जिसके बाद उन्हें कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

NEFT के काफी फायदे माने जाते हैं। इससे आप घर बैठे किसी को भी अपने मोबाइल फोन से ही पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इससे आपके समय की बचत होगी और आप इस समय को अपने काम में लगा पाएंगे। इससे आपको बैंक जाने और वहां लंबी लाइन में खड़े रहने से भी छुटकारा मिल जाएगा।

आज के दौर में डिजिटल होना स्वभाविक होता जा रहा है। आजकल लोग बैंक में भीड़ ना लगाकर अपने फोन से ही पैसे ट्रांसफर कर दिया करते हैं। इसलिए यह जानना आपके लिए बेहद जरूरी हो जाता है कि NEFT क्या होता है,NEFT FULL FORM, NEFT से पैसे ट्रांसफर कैसे किए जाते हैं, NEFT से पैसे ट्रांसफर होने में कितना समय लगता है। इन सभी जानकारियों को जानने के लिए आपको हमारे लेख में आगे जुड़े रहना होगा। आज हम इन सब विषयों पर खुलकर चर्चा करने वाले हैं। तो चलिए जान लेते हैं कि NEFT किस तरह से काम करता है।

अगर आप ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करते हैं तो आपके पास तीन ऑप्शन दिए जाते हैं जो कि हैँ- NEFT, RTGS, और IMPS. NEFT से हम बड़ी ही आसानी से किसी भी बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं या फिर कैसे मंगवा सकते हैं। तो आज हम आपको NEFT के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसमें हम आपको बताएंगे कि NEFT क्या होता है, NEFT के क्या फायदे हैं, NEFT से पैसे ट्रांसफर कैसे किए जाते हैं, NEFT से पैसे ट्रांसफर करने में कितना समय लगता है। तो चलिए जानते हैं NEFT से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां।

Neft Kya Hai Kaise Kam Karta Hai

जानें NEFT क्या है और इसका क्या काम है

NEFT की FULL FORM होती है – National Electronic Fund Transfer वहीं इसे हिंदी में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक निधि अंतरण भी कहते हैं। यह एक इलेक्ट्रॉनिक तरीके से पैसे भेजने का सिस्टम है जिससे सुरक्षित तरीके से पैसे को भेजा जा सकता है साथ ही सुरक्षित रूप से पैसे को प्राप्त भी किया जा सकता है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि NEFT SETTLEMENTS को BATCH WISE FORMAT के रूप में बनाया जाता है। इस सिस्टम के माध्यम से पैसों को पूरे भारतवर्ष में भेजा जा सकता है लेकिन उस बैंक अकाउंट में NEFT ENABLED होना आवश्यक है। अगर आपको NEFT से पैसे ट्रांसफर करने हैं तो आपको बैंक का IFSC कोड जानना बेहद जरूरी है। इसी के साथ साथ आपको और भी बैंक की जानकारियां प्राप्त करनी होंगी जैसे कि bank account, bank branch, account holder name का भी होना बहुत ही आवश्यक है।

जाने क्या होता है NPCI

इस फंड ट्रांसफर को आरबीआई (RBI) द्वारा चलाया जाता है। NEFT की शुरुआत सन 2005 में की गई थी। आप सभी को NEFT की जानकारी प्राप्त करने से पहले, यह जानना बेहद जरूरी है कि भारत के राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) क्या होता है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि इस ट्रांसफर सिस्टम को विकसित करने वाला और कोई नहीं बल्कि NPCI ही है। NPCI

एक ऐसा संगठन है जो भारत में सभी रिटेल पेमेंट की देखरेख रखता है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और इंडियन बैंक एसोसिएशन (IBA) ने NCPI की शुरुआत की है। NEFT पूरे भारतवर्ष में बैंक के ग्राहकों को यह सेवा प्रदान करता है। इससे ग्राहकों को बहुत ही सुविधा होती है। जिससे ग्राहक NEFT enabled बैंक अकाउंट में सुरक्षित रूप से पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं। इसी के साथ प्राप्त भी कर सकते हैं।

NEFT से पैसा ट्रांसफर कैसे करें?

अगर आप NEFT द्वारा पैसे ट्रांसफर करना चाहते हैं तो आपको बैंक ब्रांच में जाकर या फिर इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग के तहत NEFT के जरिए पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इसमें आपको क्या-क्या करना होगा इसके लिए हम आपको स्टेप्स के जरिए समझाएंगे।

 STEP-1   आपको नेट बैंकिंग अकाउंट या मोबाइल बैंकिंग में लॉगइन करना होगा।

 STEP-2   जैसे ही आप लॉग इन कर लें, उसके बाद ट्रांसफर पर क्लिक करें।बाद में एड बेनिफिशियरी पर क्लिक करके अपनी जानकारी साझा करें।

 STEP-3   आपको लाभार्थी का नाम,खाता नंबर,पता, IFSC कोड, और अन्य आवश्यक जानकारी वहां देनी होगी।

 STEP-4   बाद में आपसे नियम और शर्तों के बारे में जानकारी साझा की जाएगी जिस पर आपको सही का निशान लगाना है और उसे कंफर्म कर देना है।

 STEP-5   बाद में आप का वेरिफिकेशन लिया जाएगा और उसके लिए आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक सिक्योरिटी कोड भेजा जाएगा। यह सिक्योरिटी कोड यह जानने के लिए भेजा जाता है कि आपने ही उस लाभार्थी को चुना है।

 STEP-6   आपके अकाउंट का वेरिफिकेशन होने के तकरीबन 30 मिनट बाद जो भी लाभार्थी है वह आपके नेट बैंकिंग अकाउंट या फिर मोबाइल बैंकिंग ऐप में आपके साथ ऐड हो जाएगा।

 STEP-7   जब आपके अकाउंट में लाभार्थी का खाता जुड़ जाता है तो आप उस लाभार्थी को कभी भी NEFT द्वारा बड़ी ही आसानी से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। आपको उसके बाद कोई भी परेशानी से जूझना नहीं पड़ेगा आपको जिस भी लाभार्थी को पैसा ट्रांसफर करना है, बस आप उसके अकाउंट को चुने और जितने पैसे ट्रांसफर करने हैं उसकी राशि टाइप कर दे।

 STEP-8   जिसके बाद आपसे नियम और शर्तों के बारे में पूछा जाएगा तो आपको सही का निशान लगाना है और उसे कंफर्म कर देना है।

 STEP-9   आप लाभार्थी को अकाउंट में जुड़ने के बाद बिना ‘वन टाइम ट्रांसफर’ पर क्लिक करके भी पैसा ट्रांसफर कर पाएंगे।

NEFT ट्रांजैक्शन की टाइमिंग क्या है?

अगर हम बात करें कि NEFT से जब हम पैसे ट्रांसफर करते हैं तो वह कितने समय में हमारे बैंक खाते में पहुंच जाते हैं। तो हम आपको बता दें कि NEFT hourly batches में अपना काम करती है। एनईएफटी का समय सुबह 8:00 बजे से शाम के 7:00 बजे तक का होता है। साथ ही शनिवार को सुबह 8:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक का समय निर्धारित है। NEFT द्वारा ट्रांसफर किए गए पैसे batch wise format में भेजे जाते हैँ। यह पैसे आपके बैंक अकाउंट में 4 घंटों से लेकर 2 दिन के अंदर आपके बैंक खाता में क्रेडिट हो जाते हैं।

NEFT  के 8 से 6 batches निर्धारित किए गए हैं। NEFT में सोमवार से शनिवार तक और महीने के दूसरे और चौथे रविवार को छोड़कर आप कभी भी निर्धारित समय पर NEFT द्वारा पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इसकी समय सीमा निर्धारित है सुबह 8:00 बजे से शाम 6:30 बजे तक। हालांकि NEFT बैंक अवकाश के दिनों में कार्य नहीं करता है।

NEFT Inward और Outward क्या होता है?

कई बार आपसे NEFT Inward या फिर Outward के बारे में बैंक द्वारा पूछ लिया जाता है। तो आप सोच में पड़ जाते है कि आखिर यह Neft Inward और Outward क्या है? तो चलिए आज हम आपको बताते हैं इसके बारे में- जब हमारे बैंक खाते में कोई NEFT के द्वारा पैसा ट्रांसफर करता है तो उसे बैंक की भाषा में Neft Inward कहा जाता है। साथ ही जब हम NEFT के माध्यम से किसी भी बैंक खाता में कैसे ट्रांसफर करते हैं तो उसे बैंक की भाषा में Neft Outward कहा जाता है। यह पैसे ट्रांसफर करने का काफी सरल माध्यम है।

NEFT-UTR नंबर किसे कहते हैं?

आप जब NEFT के माध्यम से किसी को पैसा ट्रांसफर करते हैं तो एक NEFT-UTR नंबर जारी होता है। यह नंबर बिल्कुल अलग होता है यानी कि आप कह सकते हैं कि ऐसा ट्रांजैक्शन नंबर दूसरी ट्रांजैक्शन नंबर जैसा नहीं होगा। इसलिए UTR को बैंक की भाषा में Unique Transaction Reference Number कहा जाता है। मतलब कि हम सीधा सीधा यह भी कह सकते हैं कि NEFT के द्वारा की गई ट्रांजैक्शन से जो नंबर जारी होता है उसे NEFT यूटीआर कहा जाता है।

जब ऑनलाइन ट्रांसफर शुरू किए गए थे तब सिर्फ दो तरीकों का इस्तेमाल किया जाता था और वह था NEFT और RTGS। इसलिए उस समय सिर्फ UTR नंबर जारी हुआ करते थे। लेकिन अब डिजिटल भुगतान के कई सारे तरीके इस्तेमाल होते हैं, जिसके कारण अलग अलग तरीके से ट्रांजैक्शन नंबर जारी होते हैं। लेकिन जानकारी के लिए आपको बता दें कि यह जो डिजिटल भुगतान करते समय ट्रांजैक्शन नंबर जारी होते हैं उन्हें UTR नंबर नहीं कहा जाता है। इन नंबरों को ट्रांजैक्शन नंबर (Transaction Number) या फिर रिफरेंस नंबर (Reference Number) कहते हैं।

जानिए UTR नंबर जरूरी क्यों है?

अगर आप किसी से लेनदेन करते हैं, और बाद में आपको उस लेनदेन से संबंधित कोई प्रश्न पूछा जाता है तो आप उस UTR नंबर की सहायता ले सकते हैं। कई बार ऐसा भी होता है किसी अकाउंट में ट्रांसफर किया गया पैसा निर्धारित समय पर नहीं पहुंच पाता है। या फिर कहीं पैसा फस जाता है तो इस परिस्थिति में आप बैंक में जाकर या फिर Customer Care पर कॉल करके उस ट्रांजैक्शन का UTR नंबर दर्ज करवा कर जो भी आपने ट्रांजैक्शन की है उसका स्टेटस (Status) जान सकते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion)

तो दोस्तों आज हमने इस लेख द्वारा NEFT के बारे में जाना। NEFT किस तरह काम करता है, NEFT से कितने समय में पैसे ट्रांसफर होते हैँ, हमने आपको NEFT Inward और Outward के बारे में बताया। साथ ही आज हमने जाना कि NEFT-UTR नंबर क्या होता है। UTR नंबर इतना आवश्यक क्यों है?

आशा है आप सभी को हमारा यह लेख बेहद पसंद आया होगा। अगर आपको हमारे लेख से कुछ सीखने को मिला हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और हमें कमेंट बॉक्स में बताएँ कि आपको हमारा ब्लॉग केसा लगा और अगर आप किसी और विषय पर जानकारी प्राप्त करना चाहते हैँ तो हमें ज़रूर बताएँ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here