Keyword क्या है और इसकी परिभाषा क्या है? (SEO के लिए क्यों जरुरी है)

क्या आप भी एक Blogger बनना चाहते हैं। या फिर आप पहले से ही एक Blogger हैँ। तो आपको Keyword के बारे में जानना बेहद ही जरूरी हो जाता है। अब आप सोच रहे होंगे कि यह Keyword क्या है? तो हम आपको बता दें कि आज हम इसी के बारे में आपको पूरी जानकारी देने वाले हैं।

आप आज हमारे इस Blog से Keyword क्या होता है? Keyword SEO क्यों जरूरी होता है? Keyword Density क्या है? इसके बारे में आपको पूरी जानकारी प्राप्त होगी। Keyword से आप Blogging के करियर में बहुत ऊंचाइयां हासिल कर सकते हैं। Keyword Seo का एक भाग माना जाता है। तो चलिए जानते हैं Keyword क्या होता है और इसे किस तरह इस्तेमाल किया जाता है।

Keyword Kya Hota Hai Hindi

Keyword क्या होता है?

Keyword ब्लॉगिंग के फील्ड में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। Keyword एक ऐसा शब्द है जो कि search engine में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। अगर हम बात करें Programming Language की तो keyword एक reserved word होता है, जो कि program के लिए reserved किया जाता है। इसको हम Variable के रूप में उपयोग में नहीं ला सकते हैं।

जैसा कि हमने आपको पहले ही बता दिया है कि keyword को ब्लॉगिंग के फील्ड में search engine में इस्तेमाल किया जाता है या यूं कह लें कि सर्च किया जाता है। Keyword के कारण हर एक ब्लॉगर को पता चल जाता है कि कौन सा शब्द ऐसा है जो हम अपने ब्लॉग में लिखेंगे तो हमारा ब्लॉग रेंक करने लगेगा।

Keyword रिसर्च क्या है?

कभी-कभी आपने Bloggers को कहते सुना होगा कि हमें Keyword Research करना है। तो आप भी सोच में पड़ जाते होंगे कि आखिरकार यह है Keyword Research क्या है? तो चलिए जान लेते हैं इसके बारे में –

Keyword रिसर्च का मतलब होता है कि सही Keywords को खोजना या यूं कह सकते हैं कि हमारे Content के मुताबिक मिलते जुलते (Most Relevant) और High Ranking Keywords को ढूंढ कर अपने ब्लॉग में लिखना।

अगर सीधे-सीधे शब्दों में कहा जाए तो जिस विषय पर हम ब्लॉग लिखते हैं उस विषय के लिए सही Keywords को ढूंढना और इस्तेमाल करने को keyword research कहते हैं। अगर हम keyword research करते हैं तो हमें best keywords के बारे में पता चलता है। इसके जरिए हम अपने Content काफी आसानी से रैंक करवा सकते हैं।

वैसे आपको लग रहा होगा कि keyword research करना बहुत कठिन काम है। लेकिन ऐसा नहीं है। यह बहुत आसान काम है क्योंकि आजकल बहुत से Keyword Generator Tools बन चुके हैं। लेकिन जब आप इन टूल्स के माध्यम से अपने विषय को सर्च करते हैं तो यह आपको सैकड़ों में keywords generate करवा देता है।

जिसके बाद आप कंफ्यूज हो जाते हैं, कि कौन सा keyword रखे और कौन सा छोड़ दें। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सभी keywords एक जैसे नजर आते हैं। इसलिए हमें keyword की Ranking, Popularity और Competitive Score चेक करना बेहद ही महत्वपूर्ण हो जाता है।

Keyword Research करने के फायदे

अगर आप एक perfect high quality keyword search करते हैँ तो आपके आर्टिकल को बहुत फायदा होता है। तो चलिए आपको बताते हैँ Keyword Research करने के फायदे।

Blog CPC होती है High

जब आप किसी आर्टिकल के लिए keyword search करके अपने आर्टिकल पर High CPC Keyword इस्तेमाल करने से आपके AdSense की CPC बढ़ने लगती है।

इससे यह होगा कि अगर आपके Blog पर Google AdSense से कम CPC मिल रही है, तो वह बढ़ने लगेगी। क्योंकि अगर आपकी AdSense की cpc होगी तो आपके Blog से ज्यादा पैसा आएगा।

इसलिए अगर आप अपने Blog से अच्छा पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको keyword research करना बहुत ही जरूरी हो जाता है। साथ ही साथ पोस्ट पर keyword को perfectly optimize करना बेहद ही जरूरी है।

बढ़ने लगेगी Blog की ट्रैफिक

अगर आप अपने Blog पोस्ट पर एक keyword research करने के बाद अपने ब्लॉग पोस्ट पर अच्छी तरह से Search engine के लिए optimize कर देंगे तो आपकी पोस्ट को search engine पर भी अच्छी Position मिलने के चांसेस ज्यादा बढ़ जाएंगे।

जब आपकी पोस्ट search engine में अच्छी तरह रैंक होने लगेगी तो आपके Blog की ट्रैफिक उसके साथ ही बढ़ने लगेगी।

Keyword Stuffing क्या होता है

जब किसी Keyword को या फिर Text को Page के अंदर Multitime Repeat किया जाता है। तो उसे Keyword Stuffing कहते हैँ। कई बार बहुत लोग अपनी Website को Rank करवाने के लिए Keyword Stuffing का इस्तेमाल करते हैँ। लेकिन हम आपको बता दें कि Keyword Stuffing Search Engine में Spam माना जाता है। साथ ही साथ यह एक Black Hat SEO Technique होती है। इसलिए हम आपको सुझाव देंगे कि आप Keyword Stuffing का इस्तेमाल ना करें।

Keyword Stuffing करने के बाद कुछ समय के लिए आपका आर्टिकल Rank ज़रूर करने लग जाएगा। लेकिन जब Google को indication मिलेगा तो आपका आर्टिकल कुछ समय के बाद ही Rank से Down होने लगेगा।

अगर SEO Exeperts की मानें तो Keywords की Density 2% से 3% तक ही होनी अच्छी मानी जाती है। इसलिए कभी भी अपने आर्टिकल में Keyword Stuffing का इस्तेमाल कभी भी ना करें।

Keyword Density किसे कहते हैं?

जब हम पूरे आर्टिकल में एक ही Keyword को बार बार इस्तेमाल करते हैं, तो इसे हम Keyword Density कहते हैं। साफ शब्दों में अगर कहा जाए तो हर 100 शब्दों में यह देखा जाता है कि कितनी बार एक शब्द का प्रयोग किया गया है।

अगर कोई शब्द 100 शब्दों में दो बार इस्तेमाल कर लिया गया है तो इसकी Density 2% मानी जाएगी। अगर आर्टिकल 1000 शब्दों में लिखा गया है और उसकी Density 2% दिखा रहा है तो इसका मतलब होता है कि उसमें एक ही शब्द को 20 बार लिखा जा चुका है।

हमें Density को अपने कंट्रोल में रखना बेहद जरूरी होता है। अगर ऐसा हम नहीं करते हैं तो Density ज्यादा हो जाती है और उसके कारण Keyword Stuffing होने लगता है। अगर ऐसा होता है तो आपकी पोस्ट रैंक नहीं करेगी बल्कि सर्च रिजल्ट में दूर-दूर तक कहीं भी दिखाई नहीं देगी।

सर्च इंजन boats अगर किसी पोस्ट को crawl करते हैं तो वह Density को देखते हैं। अगर आपकी Density अच्छी होती है तो पोस्ट को वह रैंक करवा देते हैं। लेकिन वहीं अगर आपकी पोस्ट में Density कम हुई तो या फिर बहुत ज्यादा हो गई तो आपकी पोस्ट रैंक नहीं कर पाएगी।

Keyword कितने प्रकार के होते हैं?

Keyword के बहुत प्रकार होते हैं लेकिन हम आपको 5 प्रमुख प्रकारों के बारे में बताएंगे-

1. Trending Keyword

Trending Keyword को कुछ लोग Fresh keyword के नाम से भी जानते हैं।Trending Keyword उन्हें कहते हैं जो कुछ समय के लिए बहुत अधिक सर्च में आ जाते हैं। या यूं कह लें की जिन keywords को लोग कुछ समय तक बहुत ज्यादा सर्च करते हैं उन्हें Trending Keyword कहते हैं।

2. Ever Green Keyword

Ever Green Keyword उन्हें कहा जाता है जो हमेशा सर्च में आते हैं। साथ ही आगे भी सर्च होते रहते हैं। Ever Green Keyword अपने search volume को बरकरार रखता है।

3. Aria Targeting Keyword

Aria Targeting Keyword उन्हें कहा जाता है जिसमें कोई एक एरिया टारगेट होता है। जैसे कि Delhi Metro root, Jobs in Kolkata, SSC course in Jaipur इत्यादि प्रकार के keywords को Aria Targeting Keyword कहा जाता है।

4. Customer Targeting Keyword

Customer Targeting Keyword उन्हें कहा जाता है जो विशेष रुप से कस्टमर को टारगेट करने के लिए होता है। जैसे कि Best Face Cream For Man, Best Hairfall Shampoo For Man इत्यादि प्रकार के keywords को Customer Targeting Keyword कहा जाता है।

5. Product Targeting Keywords

Product Targeting Keywords उन्हें कहा जाता है जो किसी एक विशेष प्रोडक्ट को टारगेट करने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। जैसे कि Xiomi smartphone, Titan Watch For Woman इत्यादि प्रकार के keywords को Product Targeting Keywords कहा जाता है।

Keyword Placement कैसे करते हैं?

दोस्तों अब हम आपको Keyword Placement करना बताएंगे। तो चलिए सीख लेते हैं, किस तरह से हम अपने आर्टिकल में Keywords को Placement देते हैं।

1. Blog Post Title

आपको सबसे पहले अपना Keyword Blog Post के Title में डालना है। जिसे हम H1 Heading के नाम से भी जानते हैं। आपको अपनी Heading में चुना हुआ Keyword जरूर डालना है। यह आपका सबसे पहला Keyword Placement का चरण माना जाता है।

लेकिन अब आप सोच रहे होंगे कि Heading में हमें Keyword डालने की क्या जरूरत है। तो यह भी हम आपको अच्छे से समझा देते हैं।

आपको बता दें कि Google जब आपके आर्टिकल को पढ़ता है तो सबसे पहले वह आपकी Headline यानी कि H1 को पढ़ता है। तो इसीलिए अगर आप Google को अपनी Heading में यह बता देंगे कि आपका आर्टिकल किस टॉपिक पर लिखा गया है तो आपको आपकी Post को रैंक करवाने के लिए कोई ज्यादा परेशानी झेलनी नहीं पड़ेगी।

2. Permalink

दूसरा सबसे जरूरी Keyword Permalink में डाला जाता है।Permalink को blog url भी कहा जाता है। इसमें आपका primary keyword आना बेहद जरूरी है। अगर हम अपने आर्टिकल में Permalink का सही इस्तेमाल करते हैं तो हमें Google Search में आने में सहायता मिलती है।

अब आप सोच रहे होंगे कि यह क्यों जरूरी है तो आपको बता दें कि आपने कई बार देखा होगा कि जब आप Google पर कुछ Search करते हैं तो आपको सबसे पहले Main Title, Meta Description और permalink ही देखने को मिलता है। इसीलिए इन पर ध्यान देना बेहद जरूरी है।

3. Search Description

मैंने अभी आपको कुछ समय पहले ही बताया था कि Meta description, Title और url यह तीनों ही आपको Google Search में नजर आते हैँ। इसी कारण से यह तीनों जगहों पर आपके Primary Keyword का होना बेहद जरूरी है।

इसीलिए आपको Search Description में अपना मुख्य कीवर्ड डालना चाहिए, जिससे Google को आपकी पोस्ट समझ आने में सहायता मिलेगी।

4. First and Last Paragraph

आपका पहला और आखिरी Paragraph बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है क्योंकि Google आपकी पोस्ट के पहले 100 words में primary keyword को ढूंढता है।

इसलिए आप अपने ब्लॉग में कोशिश करें कि आप अपने keyword के अनुसार पहले 100 शब्दों को खुद से ही लिखें और Google को समझाएं।

इसके बाद आपको अपने आखिरी paragraph मे अपना Keyword डालना होगा। ऐसा आपको इसीलिए करना होता है क्योंकि Google आपके पोस्ट से अंदाजा लगा लेता है कि उसको यह पोस्ट किस Keyword मे रैंक करवानी है।

5. H2 और H3 Headings

H2 और H3 Headings की बात करें तो आपको इसमें Lsi keywords का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसा आपको इसीलिए करना होता है क्योंकि Google आपकी पोस्ट में Keyword के साथ-साथ Lsi Words को भी ढूंढता है। अगर आप Lsi Words का इस्तेमाल अपनी पोस्ट में करते हैं तो Google बड़ी ही आसानी से आपके आर्टिकल को रैंक करवा देता है।

आपको बता दें कि Lsi keywords को आपको Headings के साथ-साथ Paragraph में भी इस्तेमाल करना होगा।

6. Images, Alt Text or Title Text

आपको अब अपने ब्लॉग पोस्ट की Image के permalink में अपना Keyword डालना बेहद जरूरी है। साथ ही साथ आपको Image के Alt Text और Title Text में भी अपना Keyword डालना होगा। अगर हम Image का भी SEO बढ़िया तरीके से करते हैं तो गूगल हमारी पोस्ट को अच्छी तरह से रैंक करवाता है।

निष्कर्ष (Conclusion)

तो दोस्तों आज हमने इस लेख द्वारा Keyword के बारेमे जाना की Keyword क्या होता है Keyword Research कैसे करे Keyword Density क्या होती है Keyword Stuffing क्या है और भी बहुत कुछ हमने इस आर्टिकल में जाना तो आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो प्लीज इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे और आपको Keyword के बारे में कोई भी सवाल है तो आप नीचे कमेंट में हमसे पूछ सकते हैँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here