EMI क्या है और EMI कैसे काम करती है? जानिए पूरी जानकारी

EMI क्या है, बहुत लोगों के मन में ऐसे सवाल आता होगा, कि यह Emi कैसे करवाई जाती है। साथ ही साथ इसके जरिए हम क्या क्या खरीद सकते हैं, यह सभी जानकारी आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए देने जा रहे हैं। अगर आप भी Emi के जरिए कुछ खरीदना चाहते हैं, तो आपको इसकी जानकारी होना जरूरी हो जाता है।

जब हम बैंक से Loan लेते हैं, तो उसके बाद बैंक अपना पैसा वापस Emi के जरिए लेता है। आजकल E-Commerce वेबसाइट भी Emi का ऑप्शन उपलब्ध करवाती हैं। जिसके जरिए Customer के पास अगर उस सामान को खरीदने की बड़ी रकम ना हो तो वह Emi करवा कर धीरे धीरे उस सामान के पैसे चुका सकता है।

तो आज हम जानेंगे कि Emi क्या है, Emi Meaning In Hindi, Emi Full Form In Hindi, Installment Meaning In hindi, Equated Meaning In hindi, Emi par phone kese le। यह सभी जानकारी आज आपको इस ब्लॉग में मिलेंगी।

Emi Kya Hota Hai

EMI क्या है? | What is EMI In Hindi

EMI का फुल फॉर्म Equated Monthly Installment होता है। अगर हम इसको हिंदी में समझें तो इसी हम सामान मासिक किश्तों भी कहते हैं। अगर हम इसे सरल भाषा में समझे तो किसी सामान का मासिक किश्तों के रूप में भुगतान करने को EMI कहते हैं।

इसको हम इस तरह से भी समझ सकते हैं कि जब हम बैंक से लोन लेते हैं तो बैंक द्वारा हमें पूरे पैसे एक साथ दे दिए जाते हैं, जिसके बाद हमें उन पैसों का भुगतान मासिक किश्तों के द्वारा करना पड़ता है, जिसे हम EMI के नाम से भी जानते हैं। लेकिन आपको इस दौरान मासिक किश्तों के साथ-साथ बैंक को ब्याज भी देना पड़ता है जो कि आपकी मासिक किश्तों में बैंक शामिल कर देता है।

EMI किस प्रकार काम करती है?

अगर आप बैंक से लोन लेते हैं, या फिर कोई सामान EMI पर खरीदते हैं तो आपको यह पता होना चाहिए कि EMI किस तरह से काम करता है। आपको बता दें कि जो आप लोन लेते हैं, उसकी एक समय अवधि होती है। उस समय अवधि में बैंक आपसे अपने हिसाब से कुछ प्रतिशत ब्याज भी लेती है। यह ब्याज आपके मासिक किश्त में जोड़कर आपको देनी होती है।

अगर हम उदाहरण द्वारा इसको समझने की कोशिश करें तो अगर आपने बैंक से 1 लाख रुपए का लोन लिया है, और यह लोन आपने 12 महीनों के लिए लिया है। अब बैंक आपसे यह लोन लेने की 10 फ़ीसदी ब्याज वसूल रही है, तो आपको मासिक किश्त में 8792 रुपए देने होंगे। वही आपको 8333 रुपए आपके लोन के देने होंगे और साथ ही 458 रुपए आप इस लोन की ब्याज राशि देंगे।अगर आप अपनी ईएमआई की गणना नहीं कर पा रहे हैं तो आप ऑनलाइन वेबसाइट Emicalculator. Net के माध्यम से अपने लिए हुए लोन की गणना कर सकते हैं।

EMI का भुगतान कैसे करें?

हमने अब तक इस आर्टिकल में आपको EMI क्या है और यह किस तरह से काम करता है, यह सभी प्रमुख बातें अब जान चुके हैं तो अब जान लेते हैं कि EMI का भुगतान कैसे किया जाता है। आपको बता दें कि EMI का भुगतान करने के लिए 2 तरीके माने जाते हैं।

पहला तरीका तो होता है ऑनलाइन, जिसमें आप बैंक की वेबसाइट पर जाकर अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड से अपने लिए हुए लोन का भुगतान बहुत ही सहजता से कर सकते हैं। लेकिन अब आता है दूसरा तरीका तो वह है ऑफलाइन, इसमें आपको बैंक में जाकर आपकी EMI का भुगतान किया जाता है।

लेकिन कई सारे बैंक यह ऑप्शन भी देते हैं कि हर महीने ऑटोमेटिक आपके अकाउंट से EMI का भुगतान खुद से कट जाता है। यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कौन सा विकल्प चुनते हैं।

EMI Card क्या होता है?

जैसे हम Credit और Debit Card इस्तेमाल करते हैं, वैसे ही EMI Card भी होता है। अगर आपको कुछ सामान खरीदना है तो आप ऑनलाइन या ऑफलाइन भी EMI पर ले सकते हैं।

अगर आप ऑफलाइन कुछ सामान खरीद रहे हैं तो आपको यह ध्यान रखना होगा कि जिस कंपनी का आपके पास Credit Card है उसी कंपनी के साथ जहां से भी आप सामान खरीद रहे हैं उसका कॉन्ट्रैक्ट होना चाहिए। तभी आप वहां से EMI पर सामान खरीद सकते हैं।

लेकिन जब आप ऑनलाइन कुछ खरीदते हैँ तो आपको कोई भी Extra Charges नहीं देने पड़ते हैँ। लेकिन अगर आप ऑफलाइन किसी शोरून या फिर दूकान से कुछ सामान खरीदते हैँ तो आप Processing Fee भी देनी पडती है।

आपको बता दें कि EMI Card अलग-अलग कंपनी के भी हो सकते हैं। साथ ही साथ ऑनलाइन और ऑफलाइन भी आप इस कार्ड को बनवा सकते हैं। यह कंपनी के ऊपर निर्भर करता है कि यह किस तरह से Card को बना रही है। अगर आप भी चाहते हैं कि आपका भी EMI Card हो तो, इसके लिए अप्लाई करने के लिए आपका आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक पासपोर्ट साइज फोटो की जरूरत पड़ेगी। जिसके बाद आपका EMI Card बन सकता है।

जब आप कोई चीज EMI पर लेते हैं तो आपको बैंक की तरफ से 1 तारीख दी जाती है, उस तारीख पर आपके बैंक से हर महीने किश्त काट ली जाती है। अगर आप यह किश्त लेट भरते हैं तो आपको इसकी पेनल्टी भरनी पड़ती है। साथ ही साथ यह जानना भी जरूरी है कि जिस बैंक से अपने किश्त ली है वह बैंक भी आपसे पेनल्टी लेगा और साथ ही साथ आपका EMI Card से भी पेनल्टी कर सकती है।

EMI Card बनवाने के लिए आपका खर्चा भी लगता है। साथ ही साथ यह कंपनी के ऊपर निर्भर करता है कि वह आपसे कितना खर्चा लेगी। यह फीस वर्षीय रुप में भी कई कंपनियां वसूलती हैं।

EMI पर फ़ोन कैसे खरीदें?

बहुत लोग ऐसे हैँ जो फ़ोन तो खरीदना चाहते हैँ, लेकिन पूरे पैसे ना होने की वजह से अपनी इच्छाओं को पूरा नहीं कर पाते हैं। साथ ही साथ बहुत से लोगों के मन में यह भी सवाल आता है कि EMI पर हम फोन कैसे खरीद सकते हैं तो आज हम बताएंगे कि आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही मोड में EMI पर फोन कैसे खरीद पाएंगे।

ऑनलाइन EMI पर फोन कैसे खरीदें-

1. अगर आप EMI पर ऑनलाइन फोन खरीदना चाहते हैं तो आपके पास क्रेडिट कार्ड होना बेहद आवश्यक होता है।

2. उसके बाद आपको जिस भी वेबसाइट से Flipkart, Amazon जो भी वेबसाइट हो उसे ओपन करना है।

3. अब आप उस मोबाइल को सर्च करें जब भी मोबाइल आपको खरीदना है।

4. जब आप अपने पसंदीदा फोन को सर्च करके ओपन करेंगे तो आपको अपने फोन के फीचर्स के साथ साथ कीमत और EMI की जानकारी भी मिलती है।

5. अब अपने फोन की डीटेल्स और कीमत को चेक करने के बाद आप Buy Now पर क्लिक कर दें। जिसके बाद आपको अपने घर का पता दिखाई देने लगेगा। अगर आपने उस वेबसाइट पर अपना अकाउंट नहीं बनाया है तो आप उस वेबसाइट पर पहले अपना अकाउंट बनाएं। उसके बाद अपना एड्रेस भरें।

6. अपना Address Select करने के बाद Payment Method में से आपको EMI का ऑप्शन सिलेक्ट करना है। जब आप पर सिलेक्ट करेंगे तो आपको सभी बैंक के नाम और उसके साथ साथ उनके Interest Rate भी दिखाई देंगे। आपको हर महीने किश्त के कितने पैसे देने होंगे, यह सभी जानकारी आपको उसमें मिल जाएगी। आप कितने महीने में अपने फोन की किश्त चुका देंगे, उसी के अनुसार हर महीने आपको किश्त देनी होंगी।

7. इसके बाद अब आप बैंक का चुनाव कर लेंगे,तब आपको उसमें चार ऑप्शन देखने को मिलेंगे जिसमें 3 महीने, 6 महीने, 9 महीने और 12 महीने के होंगे। उसमें से आपको एक अपना पसंदीदा प्लान चुनाव करना है। अब आप अपनी Credit Card की जानकारी वहां पर भर दें, और जो भी आप पेमेंट पहले दे रहे हैं वह पेमेंट कर दें। पेमेंट करते वक्त आपके पास मोबाइल पर एक OTP भी आएगा जिससे आप डायरेक्ट पेमेंट कर सकते हैं।

8. उसके बाद आपके पास आपका मोबाइल कुछ दिनों में आ जाएगा। साथ ही साथ जो भी आपकी महीने की किश्त होगी, वह किश्त आपके बैंक अकाउंट से खुद से कट जाएगी।

ऑफलाइन फोन कैसे खरीदें-

बहुत से लोगों के पास Credit Card की सुविधा नहीं होती है। तो उनके पास फिर आखिरी विकल्प ऑफलाइन मोबाइल खरीदने का रह जाता है। इसलिए अगर आप किसी शॉप से मोबाइल फोन खरीद रहे हैं तो आपको EMI पर मोबाइल मिल जाता है। ऐसी कुछ Finance Company होती है जो आपको मोबाइल खरीदने के लिए लोन मुहैया कराती है। लेकिन इसके लिए वह आपसे ब्याज भी वसूलती हैं, जो कि आपको अपनी किश्तों के साथ ही यह ब्याज देनी होती है।

लेकिन ऑफलाइन फोन खरीदने के भी दो विकल्प होते हैं। एक तो है क्रेडिट कार्ड, दूसरा बिना क्रेडिट कार्ड। अगर आप क्रेडिट कार्ड से किसी शॉप से मोबाइल फोन खरीद रहे हैं तो आप शुरुआती पेमेंट अपने क्रेडिट कार्ड से कर दें। बाद में हर महीने आपकी किश्त आपके अकाउंट से कटती रहेगी।

अगर आप बिना क्रेडिट कार्ड के मोबाइल फोन किश्तों पर लेना चाहते हैं तो पहले आप अपने पास की किसी मोबाइल शॉप पर चले जाएं और उससे बिना क्रेडिट कार्ड के मोबाइल खरीदने की बात कर ले। जिसके बाद दुकानदार आपसे कुछ जरूरी डाक्यूमेंट्स मांगेगा। उन डाक्यूमेंट्स को देने के बाद ही आप EMI पर मोबाइल खरीद सकते हैं। उन डाक्यूमेंट्स में से आपको आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक अकाउंट पासबुक जैसे जरूरी डॉक्यूमेंट सबमिट करने होंगे।

निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों आज हमने आपको EMI क्या होता है, EMI किस प्रकार काम करती है, EMI CARD क्या होता है, EMI पर फोन कैसे खरीदते हैं। यह सभी जानकारी आज हमने आपको इस आर्टिकल में दी हैं। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों और परिवार जनों के साथ इस जानकारी को जरूर शेयर करें। अगर आपका इससे जुड़ा कोई सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें, हम आपके सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

नमस्कार दोस्तों मैं Nilesh Bambhaniya WebInformer.In का Founder & Author हूँ मुझे नयी-नयी चीज़ो को सीखने और सीखाने मे बहुत अच्छा लगता है इसीलिए मैंने ये ब्लॉग बनाया है इसके जरिए मैं आप लोगों को नयी-नयी जानकारियाँ देता रहूँगा

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here