विदुर की ये बातें बांध लें गांठ ,सफलता और सम्मान पाने के लिए इन पांच चीजों की करें पूजा

Vidur Niti: महात्मा विदुर महाभारत के प्रमुख पात्रों में से एक थे।  वे बड़े विद्वान और ज्ञानी व्यक्ति थे।

उनकी बुद्धिमत्ता और असाधारण प्रतिभा के कारण उन्हें हस्तिनापुर का प्रधान मंत्री बनाया गया था।

हस्तिनापुर के महाराजा धृतराष्ट्र ने महात्मा विदुर को अपना सलाहकार नियुक्त किया।  वह हमेशा धृतराष्ट्र को सही

और गलत के बारे में अपनी राय देते थे।  अपने लोकाचार में, उन्होंने मनुष्य को जीवन में सफलता

और सम्मान प्राप्त करने के कई तरीकों का उल्लेख किया है।  इसे जीवन में  लागू करने से व्यक्ति सफल होता है और मान सम्मान की प्राप्ति होती है।

जो अपने धर्म की रक्षा करता है और ईश्वर की शरण में रहता है, उसे सफलता और  सम्मान दोनों प्राप्त होते हैं।  इसलिए हमेशा धर्म के मार्ग पर चलना चाहिए।

विदुर नीति के अनुसार, जो अपने कुल और पूर्वजों का सम्मान और पूजा करता है।  वह जीवन में हमेशा सफल होता है और सम्मान पाता है।

विदुर नीति के अनुसार व्यक्ति को अपने कुल देवता की पूजा करनी चाहिए।  प्रत्येक अमावस्या के दिन अपने

पूर्वजों की पूजा करने से उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है।  यह जीवन को सुखी और सफल बनाता है।

प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन में मानवता के धर्म का पालन करना चाहिए।  

विदुरजी कहते हैं कि जो ऐसा करता है उसे समाज में उच्च पद प्राप्त होता है।