डिजिटल बच्चे पाल सकेंगे माता-पिता, मात्र 1940 रुपये मंथली शुल्क में मिलेगा मनचाहा बच्चा

समय के साथ-साथ हम डिजिटल वर्ल्ड की तरफ ज्यादा आकर्षित हो रहे हैं। मेटावर्स के आने

के बाद से इस दुनिया का एक नया रुप सामने आया है। अगर हम आपसे कहें कि आने वाले

समय में आप डिजिटल बच्चों के साथ खेल सकते हैं तो इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है।

जी हां, ऐसा हो सकता है क्योंकि आने वाला समय तमागोत्ची जनरेशन का है। ऐसे में सवाल

उठता है कि ये तमागोत्ची जनरेशन क्या है, तो आइये इसके बारे में जानते हैं।

एआई, यूजर्स एक्सपीरियंस और मानव-मशीन इंटरेक्शन में एक्सपर्ट और फेमस साइकोलॉजिस्ट  कैटरियोना

कैंपबेल ने अपनी नई किताब "एआई बाय डिज़ाइन: ए प्लान फॉर लिविंग विद आर्टिफिशियल

टेलिजेंस" में बताया है कि आने वाले समय मे माता-पिता को डिजिटल बच्चे पैदा करने का विकल्प मिलेगा।

इसके साथ ही आने वाले समय में लोग एआई बच्चों को स्वीकार भी करेंगे।