माता-पिता की इन आदतों का बच्चों पर पड़ता है बुरा असर, जानिए सबकुस

एक-दूसरे पर चिल्लाना   पति-पत्नी एक-दूसरे पर चिल्लाते हैं तो इसका असर बच्चों पर पड़ता है।

बच्चा भी रोने और बात करने लगता है।  उनका व्यवहार अशिष्टता और क्रोध को  दर्शाता है।  वह दूसरे बच्चों को प्रभावित करने की कोशिश करता है।

शराब या दूसरा नशा करना   इसका उस बच्चे पर क्या प्रभाव पड़ेगा जिसने अपने माता-पिता को हर समय शराब पीते देखा है?

माता-पिता के द्वारा ऐसा करने से बच्चा भी इस आदत को सीख सकता है।  

इसके अलावा उसके अंदर यह उत्सुकता भी बढ़ जाती है कि उसे पीने से क्या होता है।

दूसरों की बुराई करना   आपने कई बच्चों को देखा होगा, जो बच्चों के साथ खेलने से ज्यादा बड़ों की बातों पर ध्यान देते हैं।

ऐसा इसलिए है क्योंकि वे बड़ों की बातों पर ध्यान देते हैं और फिर उन्हें गपशप करने की भी आदत हो जाती है।

भेदभाव भरी बातें करना   बच्चे भी अपने बड़ों से जाति, लिंग, भाषा, क्षेत्र आदि के बारे में भेदभावपूर्ण बातें सीखते हैं।  

उदाहरण के लिए, यदि किसी बच्चे का पिता अपनी माँ को हीन मानता है या हमेशा अच्छा-बुरा कहता है, तो बच्चा वही सीखेगा।

हर किसी को बुरे तरीके से ट्रीट करना   बच्चे अपने माता-पिता का अनुसरण करते हैं।  ऐसे में यदि आप सबके साथ गलत व्यवहार करेंगे

तो बच्चा इस व्यवहार को उचित मानेगा।  ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि आप अपने व्यवहार में सुधार करें।