दुनिया भर में आज भी टीवी मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन माना जाता है। टीवी देखना लोगों की लाइफ का एक हिस्सा रहा है।  –

दुनिया भर में आज भी टीवी मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन माना जाता है। टीवी देखना लोगों की लाइफ का एक हिस्सा रहा है।  – 

अगर आप लंबे समय से टीवी देख रहे हैं तो अब इस पर फिर से विचार करना चाहिए। एक नई रिसर्च के मुताबिक, लंबे समय तक टीवी देखने से कोरोनरी हृदय बीमारी का खतरा बढ़ सकता है –

अगर आप लंबे समय से टीवी देख रहे हैं तो अब इस पर फिर से विचार करना चाहिए। एक नई रिसर्च के मुताबिक, लंबे समय तक टीवी देखने से कोरोनरी हृदय बीमारी का खतरा बढ़ सकता है – 

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी और हांगकांग यूनिवर्सिटी के एक्सवर्ट की एक टीम द्वारा की गई रिसर्च में कहा गया है

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी और हांगकांग यूनिवर्सिटी के एक्सवर्ट की एक टीम द्वारा की गई रिसर्च में कहा गया है  

हर दिन 1 घंटे से भी कम समय तक टीवी देखने से कोरोनरी हृदय बीमारी को 11 प्रतिशत तक रोका जा सकता है।

हर दिन 1 घंटे से भी कम समय तक टीवी देखने से कोरोनरी हृदय बीमारी को 11 प्रतिशत तक रोका जा सकता है। 

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, कम चलने फिरने वाला लाइफस्टाइल कोरोनरी धमनी बीमारी के सबसे अहम कारणों में से एक है।

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, कम चलने फिरने वाला लाइफस्टाइल कोरोनरी धमनी बीमारी के सबसे अहम कारणों में से एक है।  

रिसर्चर ने यूके बायोबैंक के डाटा के हिसाब से बताया कि स्क्रीन का अधिक इस्तेमाल और कम चलना फिरना

रिसर्चर ने यूके बायोबैंक के डाटा के हिसाब से बताया कि स्क्रीन का अधिक इस्तेमाल और कम चलना फिरना 

कंप्यूटर का अधिक इस्तेमाल करना किसी व्यक्ति के कोरोनरी हृदय बीमारी के जोखिम के बीच संबंध था।

कंप्यूटर का अधिक इस्तेमाल करना किसी व्यक्ति के कोरोनरी हृदय बीमारी के जोखिम के बीच संबंध था। 

बीएमसी मेडिसिन जर्नल में पब्लिश उनके जर्नल के लिए, रिसर्चर ने 500,000 से अधिक लोगों में से प्रत्येक के पॉलीजेनिक रिस्क स्कोर को स्कोर किया, जिनके डाटा को उन्होंने चेक किया।

बीएमसी मेडिसिन जर्नल में पब्लिश उनके जर्नल के लिए, रिसर्चर ने 500,000 से अधिक लोगों में से प्रत्येक के पॉलीजेनिक रिस्क स्कोर को स्कोर किया, जिनके डाटा को उन्होंने चेक किया। 

एक पॉलीजेनिक रिस्क स्कोर बताता है कि एक सामान्य व्यक्ति का रिस्क एक अलग जेनेटिक कॉन्स्टिट्यूशन वाले अन्य लोगों के मुकाबले में कैसे होता है।

एक पॉलीजेनिक रिस्क स्कोर बताता है कि एक सामान्य व्यक्ति का रिस्क एक अलग जेनेटिक कॉन्स्टिट्यूशन वाले अन्य लोगों के मुकाबले में कैसे होता है। 

रिसर्चर ने देखा कि जो लोग प्रतिदिन 4 घंटे से अधिक टीवी देखते हैं उनके पॉलीजेनिक रिस्क स्कोर को देखे बिना दिली की बीमारी का सबसे बड़ा जोखिम होता है।

रिसर्चर ने देखा कि जो लोग प्रतिदिन 4 घंटे से अधिक टीवी देखते हैं उनके पॉलीजेनिक रिस्क स्कोर को देखे बिना दिली की बीमारी का सबसे बड़ा जोखिम होता है।