LIC IPO GMP Status: खुल गया देश का सबसे बड़ा LIC IPO, कल के मुकाबले GMP में गिरावट

LIC IPO GMP:4 मई को एलआईसी के आईपीओ का जीएमपी करीब रु. 65, जो रु। 85 था। वहीं, 30 अप्रैल को

देश का सबसे बड़ा आईपीओ एलआईसी आईपीओ खुदरा निवेशकों के लिए खुला है।

निवेशक इस सरकारी कंपनी के आईपीओ में आज आज से नौ मई तक निवेश कर सकेंगे। शेयर 12 मई को आवंटित किए जाएंगे

LIC IPO से जुड़ीं अहम जानकारियां-   - Public offering (यानी रिटेल निवेशकों के लिए आवेदन)- 4 से 9 मई तक  - प्राइस बैंड (LIC IPO Price band): 902 रुपये से 949 रुपये.  - लॉट साइज (LIC IPO Bid lot size): एक लॉट में 15 शेयर.  - इश्यू साइज (LIC IPO Issue size)- 22.13 करोड़ शेयर (कुल शेयरों का 3.5%)

रिजर्वेशन (LIC IPO Reservations)-    - पॉलिसी होल्डर्स के लिए (Policy holders) - इश्यू का 10% यानी 2.21 करोड़ शेयर रिजर्व. - कर्मचारियों के लिए 0.15 करोड़ शेयर रिजर्व शेयरों का 3.5%)

रिजर्वेशन (LIC IPO Reservations)-   - पॉलिसी होल्डर्स के लिए डिस्काउंट (LIC IPO Discount for Policy Holders)- 60 रुपये प्रति शेयर  - LIC कर्मचारियों के लिए डिस्काउंट (LIC IPO Discount for Retail and Employees)- 45 रुपये प्रति शेयर. 

वहीं, एलआईसी के कर्मचारियों को इस आईपीओ के लिए आवेदन करने पर प्रति शेयर 45 रुपये की छूट मिलेगी।

यानी अपर प्राइस बैंड के मुताबिक उन्हें प्रति लॉट आवेदन के लिए 13,560 रुपये देने होंगे।

LIC IPO के GMP में गिरावट इस बीच, गैर-सूचीबद्ध बाजार में एलआईसी आईपीओ ग्रे मार्केट प्रीमियम (जीएमपी) में गिरावट देखी जा रही है। ipowatch.in के मुताबिक, 4 मई को एलआईसी

के आईपीओ का जीएमपी करीब रु. 65, जो रुपये पर कारोबार कर रहा है। 85 था। वहीं, 30 

अप्रैल को जीएमपी ने अधिकतम रु. 90 था, इसलिए पब्लिक इश्यू के खुलने के साथ ही जीएमपी में गिरावट आई है। 

आईपीओ का इश्यू साइज रु. आईपीओ के जरिए 21,000 करोड़ और करीब 22.14 करोड़ शेयर बेचे जाएंगे।

इस आईपीओ के जरिए सरकार अपनी 3.5 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 21,000 करोड़ रुपये जुटाने जा रही है. ऐसे में यह भारत के

इतिहास का सबसे बड़ा आईपीओ होने जा रहा है। बता दें, सरकार ने वित्त वर्ष 2022-23 में विनिवेश से 65,000 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है.