भारतीय मोबाइल नंबर आखिर क्यों +91 से शुरू होते हैं? इसके पीछे की वजह बेहद खास है

Indian Callining Code:   जब भी पूरे भारत में किसी फोन को डायल किया जाता है, तो यह +91 से शुरू होता है,

चाहे वह नंबर किसी भी राज्य या शहर का हो, जैसे ही आप कॉल प्राप्त करते हैं या यदि आप किसी को कॉल करते हैं,

तो निश्चित रूप से +91 होता है।  वहां उस नंबर से पहले।  आपने इसके पीछे का कारण जानने की कोशिश की होगी लेकिन

आप में से ज्यादातर अभी भी इसके बारे में नहीं जानते होंगे।  दरअसल यह  हमारे देश का कंट्री कोड है और यह कोड हर देश के लिए अलग होता है।

अब सवाल यह उठता है कि आखिर इस कंट्री कोड को निर्धारित कैसे किया जाता है मसलन अगर भारत में +91 कंट्री कोड का

का इस्तेमाल किया गया है तो उसके पीछे वजह क्या है और किस आधार पर इस के अंकों को तय किया जाता है.

अगर आप भी इस बारे में विस्तार से जानना चाहते थे और आज तक नहीं जान पाए थे तो अब हम आपको इसके बारे में बताएंगे.

किस तरह से किया जाता है निर्धारित  आपको बता दें कि भारत में +91 कंट्री कोड का इस्तेमाल होता है, जबकि दूसरे देशों में यह अलग है।  

दरअसल इस कोड को इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशन यूनियन कहा जाता है जो एक एजेंसी है और

संयुक्त राष्ट्र का एक अभिन्न अंग भी है।  आपको बता दें कि यह कोड क्या होगा यह इस एजेंसी द्वारा तय किया जाता है।

आपको बता दें कि अगर भारत में नंबर की शुरुआत में दिए गए इस प्रीफिक्स कोड का इस्तेमाल नहीं होता है

तो कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन अगर आप भारत से बाहर कॉल करना चाहते हैं तो आपको इस कोड का इस्तेमाल करना होगा।  

दरअसल, इस कोड का इस्तेमाल इंटरनेशनल कॉलिंग के लिए किया जाता है और 193  देश इस कोड का इस्तेमाल करते हैं जो हर देश के लिए अलग-अलग होता है।