सरकार क्यों और कैसे बंद करती है इंटरनेट? यूजर को हुए नुकसान की भरपाई कौन करेगा?

भारत दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता हुआ इंटरनेट बाजार है. वहीं, दूसरी ओर इसके साथ एक

नकारात्मक आंकड़ा भी जुड़ा हुआ है. इंडियन काउंसिल फॉर रिसर्च ऑन इंटरनैशनल

इकोनॉमिक रिलेशन्स के मुताबिक, भारत दुनिया में सबसे ज्यादा बार इंटरनेट बंद करने वाले देशों में आगे

रहा है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इंटरनेट बंद करने की नौबत क्यों आ जाती है?

देश में जब भी अशांति जैसे हालात पैदा हो जाते हैं, तो सरकार को कुछ कड़े फैसले तुरंत लेने होते हैं.

इधर जब से इंटरनेट और फिर सोशल मीडिया का दौर चल पड़ा है, तब से सरकार अशांति

जैसे हालातों में इंटरनेट सेवाएं बंद करने का फैसला लेने लगी है. हाल के समय में देखा गया है

कि किसी सांप्रदायिक या राजनीतिक तनाव की घटना में इंटरनेट पर मौजूद मैसेजिंग ऐप्स या

सोशल मीडिया के जरिये फेक न्यूज तेजी से फैलायी जाती है. इसमें हिंसा करने के लिए लोगों को

इकट्ठा करने और दूसरी तरह की हिंसक गतिविधियां शामिल होती हैं.