खत्म होगा लाइट बिल का झंझट,सरकारी खर्चे पर 1 लाख 60 हजार रुपए तक का सोलर प्लांट लगवाएं, जानिए डिटेल्स

Free Solar Panel Yojana:  क्या आप भी रोजाना बिजली कटौती से परेशान हैं?  यदि हाँ, तो अब आप भी सरकार द्वारा दी  

जाने वाली सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं और अपने घर में बहुत ही सस्ते दाम में सोलर प्लांट लगा सकते हैं।  

सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सब्सिडी आपके द्वारा स्थापित किए जा रहे सोलर प्लांट के आकार पर निर्भर करेगी।  

अगर आप बड़ा प्लांट लगाते हैं तो आपको ज्यादा सब्सिडी मिलेगी, छोटे प्लांट पर आपको कम सब्सिडी मिलेगी।

सोलर प्लांट के लिए आवश्यक सामान  किसी भी सोलर प्लांट के लिए सबसे जरूरी सामग्री सोलर इन्वर्टर, सोलर बैटरी, सोलर पैनल हैं।  इसके बाद वायर फिक्सिंग,

स्टैंड आदि का खर्चा आता है, जिस पर अतिरिक्त पैसा देना पड़ता है।  इस  प्रकार, इन सभी चीजों को मिलाकर, हम लागत में कटौती कर सकते हैं।

सोलर इन्वर्टर  वर्तमान में बाजार में 5 kW के सोलर इनवर्टर उपलब्ध हैं, जिन्हें आप 4 kW का प्लांट चलाने के लिए खरीद सकते हैं।

हालांकि, यह थोड़ा महंगा है।  अगर आपका बजट कम है तो आपको PWM तकनीक वाले सोलर इन्वर्टर का इस्तेमाल करना चाहिए।

सोलर बैटरी  सोलर बैटरी की कीमत उसके आकार पर निर्भर करती है।  अगर आप 4 बैटरी वाला इन्वर्टर लेते हैं तो यह सस्ता होगा

लेकिन अगर आप 8 बैटरी वाला इन्वर्टर लेंगे तो कीमत दोगुनी हो जाएगी।  एक अनुमान के मुताबिक एक बैटरी की कीमत करीब 15,000 रुपये है।

सोलर पैनल्स  वर्तमान में बाजार में तीन तरह के सोलर पैनल उपलब्ध हैं।  इन तीनों को पॉलीक्रिस्टलाइन, मोनोफेशियल

और बाइफेशियल कहा जाता है।  अगर आपका बजट कम है और जगह ज्यादा है तो आपको पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का इस्तेमाल करना चाहिए।  

लेकिन अगर आपके पास जगह कम है तो आपको बाइफेशियल सोलर पैनल का इस्तेमाल करना चाहिए।