Chanakya Niti: जीवन में अगर कुछ बनना है तो फौरन छोड़ दें इनका साथ, नहीं तो मलते रह जाएंगे हाथ

चाणक्य नीति के अनुसार मनुष्य को जीवन के महत्व को जानना चाहिए. ये जीवन अनमोल है.  

जो लोग इस बात को नहीं समझते हैं और बुरी आदत, संगत में लिप्त रहते हैं  

उन्हें सफलता हासिल करने के लिए जीवन भर संघर्ष करना पड़ता है. ऐसे लोगों को जीवन भी आगे चलकर दुख और कष्टों से घिर जाता है. 

ै. इसीलिए यदि जीवन को सफल बनाना है तो आचार्य चाणक्य की इन बातों को जान लें- 

चाणक्य नीति कहती है कि गलत संगत विष के समान है. इससे दूर रहने में ही भलाई है जो लोग गलत संगत का त्याग नहीं कर पाते हैं  

वे जीवन में कष्ट भोगते हैं. संगत का मनुष्य की सफलता में विशेष योगदान  होता है. जब व्यक्ति अच्छी संगत करता है तो उसकी प्रतिभा निखरती है, 

ज्ञान में वृद्धि होती है. वहीं जब संगत खराब होती है तो व्यक्ति बुरे कार्यों की तरफ आकर्षित होता है.  

बुरी आदतें पनपती हैं, व्यक्ति को सम्मान नहीं मिलता है और हर कोई दूरी बना लेता है.