ऐसी महिलाओं से शादी करने से चमकती है किस्मत, पुरुषों को हमेशा सावधान रहना चाहिए

Chanakya Niti Wedding आचार्य चाणक्य ने चाणक्य नीति में जीवन की कठोर वास्तविकता को विस्तार से समझाया है।

आपको आचार्य चाणक्य के विचार कड़वे लग सकते हैं लेकिन वे सच हैं।  चाणक्य नीति के शब्द जीवन की हर परीक्षा पर खरे उतरते हैं।  

चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य ने पत्नी, दोस्त, पिता जैसे कई रिश्तों के बारे में बात की है।  चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य

ने यह भी उल्लेख किया है कि किस स्त्री से विवाह करना चाहिए।  पत्नी कैसी होनी चाहिए?  आइए जानते हैं

आइए जानते हैं चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य ने किन 5 प्रकार की महिलाओं से विवाह करने का उल्लेख किया है।

गुणवान स्त्री  चाणक्य नीति के अनुसार सदाचारी स्त्री से ही विवाह करना चाहिए।  शादी के लिए पुरुष को

सिर्फ एक खूबसूरत महिला के पीछे नहीं भागना चाहिए।  यदि स्त्री सुंदर है और गुणी नहीं है,

तो वह आपको प्रतिकूल समय पर छोड़ देगी और आप एकाकी होंगे।  गुणी स्त्री कठिन समय में भी अपने पति का साथ नहीं छोड़ती है।

मर्यादित स्त्री  चाणक्य नीति के अनुसार, पुरुष को विवाह के लिए उपयुक्त महिला का चयन करना चाहिए।  

गरिमा के साथ जीने वाली महिला अपने पति के सम्मान को बनाए रखती है।  एक सम्मानित महिला का पति कभी भी शर्म से सिर नहीं झुकाता।

क्रोध को नियंत्रण में रखने वाली स्त्री  आचार्य चाणक्य ने चाणक्य नीति में कहा है कि यदि स्त्री अपने क्रोध पर नियंत्रण करना जानती है

तो वह विवाह के योग्य है।  क्रोध मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु है।  जिस  स्त्री के सिर पर हमेशा क्रोध रहता है, वह अपने परिवार को कभी सुखी नहीं रख  सकती।