Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य की ये नीतियां दिला सकती है आपको सफलता

चाणक्य का जन्म एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था।  चाणक्य को कौटिल्य या विष्णुगुप्त के नाम से भी जाना जाता है। 

वह मौर्य साम्राज्य के संस्थापक चंद्रगुप्त मौर्य के शासनकाल के दौरान एक  मंत्री थे।  वह एक महान विचारक, अर्थशास्त्री, न्यायविद और शाही 

सलाहकार और दार्शनिक थे और उनकी शिक्षाओं को दो पुस्तकों- अर्थशास्त्र और चाणक्य नीति में एक साथ रखा गया है।   

अर्थशास्त्र को चाणक्य का प्रशिक्षण मैनुअल माना जाता है जिसके माध्यम से उन्होंने चंद्रगुप्त को एक नागरिक से सम्राट बना दिया।  

उनकी बुद्धि पर कोई प्रश्नचिह्न नहीं लगा सकता।  वह योद्धा नहीं था, लेकिन उसने अपनी चतुराई और 

कूटनीति से बड़ी से बड़ी लड़ाई जीत ली।  चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य के शब्द आज भी बहुत कारगर साबित होते हैं। 

उनकी नीतियां आपको जीवन में आपके लिए सही रास्ता चुनने में भी मदद कर सकती हैं।  

आइए जानते हैं चाणक्य ने जीवन को सफल बनाने के लिए अपनी नीतियों में क्या कहा है। 

अपनी पिछली गलतियों पर पछतावा करने के बजाय उनसे सीखने की कोशिश करें।  अतीत पर  

पछतावा करने की तुलना में गलतियों से सीखना और भविष्य में सुधार करना बेहतर है।