अमीर नहीं 'गरीब' बनाता है ऐसा पैसा! वजह जरूर जान लें वरना पछताएंगे, जानिए क्या कहती है चाणक्य निति

Chanakya Niti for Money आचार्य चाणक्य ने सुखी और सफल जीवन जीने के उपाय बताए हैं।  साथ ही मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने और

धनवान बनने के लिए भी मार्गदर्शन दिया गया है।  आचार्य चाणक्य ने अपनी नितिशास्त्र चाणक्य नीति में कहा है

कि यदि धन कमाने का तरीका गलत हो तो बहुत अधिक धन अर्जित करने के बाद भी  व्यक्ति कुछ ही समय में गरीब हो जाता है।  ऐसा व्यक्ति जितनी जल्दी अमीर  होगा,

उसका पैसा उतनी ही तेजी से जाएगा और वह पहले से ज्यादा गरीब हो सकता है।   आइए जानते हैं चाणक्य नीति के अनुसार किस तरह के धन का जल्दी नाश होता है।

तेजी से नष्‍ट होता है ऐसा धन   चाणक्य नीति कहती है कि जो गलत तरीके से कमाया जाता है वह बहुत जल्दी नष्ट हो जाता है।  

चोरी करने, झूठ बोलने, धोखा देने से मनुष्य थोड़े समय में अवश्य ही धनवान  बन सकता है, परन्तु ऐसा धन शीघ्र गँवा देता है और दरिद्र बना देता है।  

ऐसा पैसा आपको पाप का भागीदार भी बनाता है।  यह पैसा आपको थोड़े समय के लिए खुशी और आनंद देता है,

लेकिन फिर यह कई समस्याओं का कारण भी बनता है, इसलिए कभी भी अनैतिक रूप से  पैसा न कमाएं और न ही किसी जल्दी-जल्दी धनवान बनने के शॉर्टकट में पड़ें।

दान-धर्म   आचार्य चाणक्य के अनुसार मां लक्ष्मी उन्हीं पर प्रसन्न होती हैं जो अपनी  आय का एक हिस्सा जरूरतमंदों की मदद और दान में खर्च करते हैं।  

जो लोग अपना धन न तो अपनों पर खर्च करते हैं और न ही दान-पुण्य में लगाते  हैं, उनका धन शीघ्र ही नष्ट हो जाता है।  इतने पैसे वाला व्यक्ति भी अपना  आनंद नहीं उठा सकता।