ऐसी स्त्री के आगे सभी पुरुष नतमस्तक होते हैं, जानिए क्या कहती है चाणक्य निति

Chanakya Niti :   हिम्‍मत  आमतौर पर पुरुषों को महिलाओं की तुलना में अधिक साहसी माना जाता है,

लेकिन आचार्य चाणक्य के अनुसार सच्चाई इससे परे है।  आचार्य चामाक्य का कहना है

कि एक महिला में पुरुष से अधिक साहस होता है और एक महिला हर मुश्किल से लड़ती है।

समझदारी   महिलाएं पुरुषों से ज्यादा बुद्धिमान होती हैं और हर फैसला सोच-समझकर लेती हैं,

जबकि पुरुष बिना सोचे-समझे फैसले लेते हैं और बाद में पछताते हैं।  एक महिला का धैर्य उसकी

सबसे बड़ी ताकत है।  धैर्य और समझदारी के फैसले भी परिवार को आगे बढ़ने में मदद करते हैं।

भावुक  स्त्री में संवेदनशीलता और करुणा की भावना होना स्वाभाविक है और ये दो गुण स्त्री को पुरुष से अधिक संवेदनशील बनाते हैं,

लेकिन इसे स्त्री की कमजोरी के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए।  संवेदनशीलता के साथ लिए

गए निर्णय भविष्य में कारगर साबित होते हैं और फिर आप ऐसी महिला को नमन करते हैं।

भूख  आचार्य चाणक्य का कहना है कि महिलाओं को पुरुषों से ज्यादा भूख लगती है।

एक महिला को उसके शरीर की संरचना के कारण अधिक पोषण की आवश्यकता होती है,

, इसलिए महिलाओं को हमेशा पर्याप्त और पौष्टिक भोजन करना चाहिए।