Chanakya Niti:  जन्म से ही महिलाओं के स्वभाव में होती है ये बुरी आदतें!

Chankya Niti: आचार्य चाणक्य को भारतीय राजनीति, कूटनीति और अर्थशास्त्र का जनक कहा जाता है।

उन्होंने अपनी नीतियों में न केवल सफलता की कुंजी का उल्लेख किया है, बल्कि जीवन के हर पहलू पर बात की है।  

उन्होंने जीवन की कई ऐसी गूढ़ बातें मनुष्य को बताई हैं, यह विश्वास करते हुए कि व्यक्ति जीवन में कभी पराजित नहीं हो सकता।

आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतियों को एक पुस्तक के रूप में संकलित किया, जिसे चाणक्य नीति कहा जाता है।  आचार्य चाणक्य ने अपनी

एक नीति में महिलाओं के स्वभाव से जुड़ी 5 बुरी आदतों के बारे में बताया है।  इस संबंध में चाणक्य नीति का यह श्लोक प्रचलित है।

अनृतं साहसं माया मूर्खत्वमतिलोभिता। अशौचत्वं निर्दयत्वं स्त्रीणां दोषा: स्वभावजा:।। 

अर्थात् झूठ बोलना, अत्यधिक साहस, छल, मूर्खता, लोभ और क्रूरता, ये दोष जन्म से ही स्त्रियों के स्वभाव में होते हैं।

आचार्य चाणक्य के अनुसार, ये आदतें महिलाओं में जन्म से ही होती हैं।

झूठ बोलना  आचार्य चाणक्य के अनुसार ज्यादातर महिलाएं इस बात पर झूठ बोलती हैं।

झूठ बोलने के स्वभाव के कारण महिलाएं कई बार परेशानी में पड़ जाती हैं।  यह दोष स्त्रियों में जन्म से ही विद्यमान रहता है।

छल करना या धोखा देना  चाणक्य नीति के अनुसार स्त्रियों में छल का दोष जन्म से ही होता है।  

स्त्रियां अक्सर लोगों को चिकनी-चुपड़ी बातों में फंसाकर अपना स्वार्थ  सिद्ध कर देती हैं और समय आने पर पहचाने जाने से इंकार कर देती हैं