इन 4 चीजों में हमेशा पुरुषों से आगे रहती हैं महिलाएं, जानिए चाणक्य निति

Chanakya Niti:   देश के महानतम विद्वानों और विद्वानों में से एक आचार्य चाणक्य अपनी नैतिकता के  लिए बहुत प्रसिद्ध हैं।  

चाणक्य नीति आचार्य चाणक्य के कथनों का एक अद्भुत संग्रह है, जो आज भी उतना ही प्रासंगिक है

जितना तब था जब इसे लिखा गया था।  ये नीतियां मानव जीवन को सही दिशा देती हैं।

स्त्रीणां दि्वगुण आहारो बुदि्धस्तासां चतुर्गुणा। साहसं षड्गुणं चैव कामोष्टगुण उच्यते।।

भूख  प्रथम गुण में आचार्य कहते हैं कि 'स्त्रीनाम द्विगुण अहरो' अर्थात स्त्रियों को पुरुषों से कई गुना अधिक भूख लगती है।  

वे भोजन के मामले में पुरुषों से बेहतर हैं।  चाणक्य ने अपनी नीति में कहा  है कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में दोगुनी भूखी होती हैं।  

महिलाओं को उनके शरीर की संरचना के कारण अधिक कैलोरी की आवश्यकता होती है।  इसलिए महिलाओं को अधिक खाना खाने की सलाह दी जाती है।

बुद्धिमान  चाणक्य ने महिलाओं के एक और गुण का वर्णन करते हुए अपनी नीति में कहा है

कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक चालाक होती हैं, यानी तेज बुद्धि (बुद्धासन चतुर्गुण)।  

वे पुरुषों से ज्यादा समझदार हैं।  महिलाएं अपनी सूझबूझ से जीवन की कठिन परिस्थितियों से आसानी से निकल जाती हैं।