Chanakya Niti : पत्नी में है ऐसा दोष तो बर्बाद हो जाती है पति की जिंदगी, शादी से पहले जान लें ये बातें

ऐसे पति का शरीर बिना आग के जलता है चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जो दुष्टों के गांव में रहता है या निराश्रितों की सेवा करता है,

जो खाने योग्य नहीं खाता है, उसकी अपमानजनक और हमेशा क्रोधित पत्नी, मूर्ख  पुत्र या विधवा बेटी होती है, ऐसे व्यक्ति का शरीर बिना जलाए जलता है। आग।

पत्नी, मित्र और नौकर कैसा नहीं होना चाहिए? आपको बता दें कि चाणक्य नीति में भी लिखा है कि पत्नी, दोस्त और

नौकर के साथ कठोर व्यवहार नहीं करना चाहिए।  अगर आपकी पत्नी में ये गुण हैं तो आपके लिए मुश्किल हो सकती है।  चाणक्य की सलाह के

अनुसार, दुष्ट पत्नी, झूठे दोस्त, चालाक दास और सांप के साथ रहना हमेशा एक बुरा विचार है।  यह मौत को गले लगाने जैसा है।

मुसीबत से कैसे निकलें बाहर? चाणक्य हमें संकट से बाहर आने की सलाह देते हैं।  चाणक्य के अनुसार भविष्य  में आर्थिक परेशानी आने पर पैसे बचाने में ही समझदारी है।  

धन का त्याग करके पत्नी की रक्षा करनी चाहिए और यदि आत्मा की बात हो तो धन और पत्नी दोनों का त्याग करके आत्मा की रक्षा करनी चाहिए।

एक बुद्धिमान व्यक्ति को ऐसे देश में कभी नहीं रहना चाहिए जहां कोई काम नहीं है, जहां लोगों को किसी चीज का डर नहीं है,

जहां लोगों को किसी चीज के लिए शर्म नहीं है, जहां लोग बुद्धिमान नहीं हैं और जहां लोग परोपकारी हैं।