इन तीन बुरे लोगों से तुरंत करें दूरी!  नहीं तो जिंदगी नर्क हो जाएगी, जानिए क्या कहती है चाणक्य नीति

Chanakya Niti for Happy Life:   हमें बचपन से सिखाया जाता है कि हमें जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए।

लेकिन आचार्य चाणक्य के अनुसार आपकी मदद करने से पहले आपको लोगों के चरित्र के बारे में पता होना चाहिए।

अच्छे जीवन के लिए व्यक्ति क्या नहीं करता है।  मेहनत करके पैसा कमाता है।  घर की हर चीज को खुशहाल जिंदगी से जोड़ता है।

मृत्यु के समान है रहना  आचार्य चाणक्य ने जीवन में तीन लोगों से दूरी बनाए रखने को कहा है।  अगर इन तीन लोगों को

जीवन से हटा दिया जाए तो इंसान को खुश रहने से कोई नहीं रोक सकता।  आचार्य चाणक्य ने ऐसे तीन लोगों के साथ

रहने को मौत बताया है।  ये तीन लोग चरित्रहीन महिलाएं, स्वयंभू व्यक्ति और हमेशा दुखी व्यक्ति होते हैं।

चरित्रहीन पत्नी   आचार्य चाणक्य की नीति कहती है कि यदि घर में कोई दुष्ट पत्नी हो तो आपका सुखी जीवन मृत्यु के समान लगने लगता है।

ऐसी स्त्री जिस घर में रहती है वह नर्क बन जाता है।  ऐसे घर में हमेशा कलह, झगड़ा रहता है, जिससे व्यक्ति का जीवन बर्बाद हो जाता है।

इस लोगों से बनाएं सौ कदम की दूरी    आचार्य चाणक्य के अनुसार दुखी लोगों से हमेशा सौ कदम की दूरी

बनाकर रखनी चाहिए।  ऐसे लोग दूसरों की खुशी से नफरत करते हैं और उनके लिए बुरी भावना भी रखते हैं।  इसलिए यदि आप ऐसे लोगों से दूरी

नहीं बनाए रखते हैं, तो आपका जीवन हमेशा नकारात्मक वातावरण में चला जाएगा, क्योंकि वे केवल दुखी होने का दिखावा करते हैं।