आचार्य चाणक्य की इन बातों का बुरे समय में पालन करें, हर मुश्किल को आसानी से पार कर लेंगे

Chanakya Niti:    साहस और संयम –  चाणक्य के अनुसार साहस और संयम से व्यक्ति हर मुश्किल का डटकर मुकाबला कर सकता है।  

बुरे समय में हमेशा साहस और आत्म संयम बनाए रखना चाहिए।  इस दौरान कोई भी फैसला हिम्मत और सूझबूझ से लें।  

बुरा वक्त अक्सर ऐसा आता है जब सब कुछ करते हुए सब कुछ बिगड़ जाता है।  इसलिए इस दौरान धैर्य रखें।

धैर्य –   चाणक्य के अनुसार बुरे समय में धैर्य रखना चाहिए।  किसी भी परिस्थिति में घबराएं नहीं।  

डर कर आप सफल नहीं हो सकते।  बुरे समय में अक्सर ऐसा होता है कि व्यक्ति  अपना धैर्य खो देता है।  बुरे समय में कभी भी धैर्य नहीं खोना चाहिए।  

जैसे रात के बाद दिन और रात के बाद दिन होता है वैसे ही बुरे समय के बाद  अच्छा समय आता है।  इसलिए बुरे वक्त में धैर्य नहीं खोना चाहिए।

आत्मविश्वास –   चाणक्य के अनुसार कठिन समय में कभी भी आत्मविश्वास नहीं खोना चाहिए।  

आत्मविश्वास से हर बड़ी से बड़ी मुश्किल को आसानी से पार किया जा सकता है।  यदि आप अपना दिमाग खो देते हैं,

तो आपको सफलता नहीं मिलेगी।  बात यह है कि मन जीतता है तो जीतता है और मन हारता है।  

इसलिए हमेशा खुद पर विश्वास रखें।  अपना आत्मविश्वास कभी न खोएं।