इन 2 चीजों को जानकर ही किसी को सौंपे जिम्मेदारी, वरना हो सकता है नुकसान

महान अर्थशास्त्री व शिक्षाविद आचार्य चाणक्य ने अपनी किताब नीति शास्त्र में जीवन से जुड़े कई पहलुओं का जिक्र किया है।  

चाणक्य नीतियां मनुष्य को जीवन की सच्चाई से अवगत कराती हैं। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में  

व्यक्ति अपने पर्सनल व प्रोफेशनल लाइफ के बीच तालमेल नहीं बिठा पाता है। बिजी होने के कारण लोग अक्सर  

अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को किसी और को सौंप देते हैं। आचार्य चाणक्य ने उन दो लोगों का जिक्र किया है 

जिन्हें आप जिम्मेदारी सौंप सकते हैं। अगर व्यक्ति में दो तरह के गुण हैं तो व्यक्ति पर भरोसा  

किया जा सकता है। जानें चाणक्य के अनुसार, जिम्मेदारी सौंपने से पहले व्यक्ति में किन दो चीजों को देखना चाहिए-  

चाणक्य कहते हैं कि काम सौंपने से पहले व्यक्ति को परखना चाहिए। चाणक्य कहते हैं कि अगर ज्ञानी व्यक्ति  

को जिम्मेदारी सौंपी जाए तो वे उसे जिम्मेदारी के साथ निभाते हैं। ज्ञानी व्यक्ति की प्रतिष्ठा दांव पर होती है। 

अगर वह सही तरीके से अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाएंगे तो उनकी छवि भी खराब होगी। अज्ञानी  

व्यक्ति को जिम्मेदारी सौंपना खुद को मुश्किल डालने के समान है।