Chanakya Niti: ये 4 आदतें कुत्ते से जरूर सीखें, जीवन में कभी नहीं खाएंगे मात

प्रकृति जीवन में बहुत कुछ सिखाती है. पेड़-पौधे,  नदी-तालाब, पुश-पक्षियां कैसे विपरीत परिस्थियों में भी अटल रहना है 

ये हमे इनसे सीखना चाहिए. चाहे कोई भी हो किसी के अच्छे गुणों को प्राप्त करने से हमारी सोच 

और कर्म में सकारात्मक असर देखने को मिलता है. यदि व्यक्ति चाहे तो आसपास  

मौजूद जानवरों से भी बहुत कुछ सीख सकता है. चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में कुछ जानवरों के ऐसे गुण बताए हैं  

जिसे अगर हम अपना लें तो जीवन आसान हो सकता है और कामयाबी पाने की राह सरल हो सकती है.  

चाणक्य ने  बताया है कि एक कुत्ते से जीवन में क्या आदतें अपनानी चाहिए आइए जानते हैं. 

संतुष्ट श्लोक के माध्यम से चाणक्य कहते हैं कि जिस तरह भूख के समय कुत्ते को जो मिलता है उसे वो खा लेता है. 

नींद चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति की नींद कुत्ते की नींद के समान होनी चाहिए. जरा सी आहट वो कुत्ता नींद से जाग जाता है.

वफादारी जग जाहिर है कि कुत्ता अपने मालिक के लिए कितना वफादार होता है.