इन गुणों वाली महिलाएं होती हैं श्रेष्ठ पत्नी और मां, जानें क्या कहती है चाणक्य नीति

प्रसिद्ध अर्थशास्त्री आचार्य चाणक्य बेहद ही बुद्धिमान और कुशल राजनीतिज्ञ थे.

उन्होंने अपनी नीतियों में न सिर्फ व्यक्ति को सफलता हासिल करने के तमाम रास्ते बताए हैं, बल्कि

इनके माध्यम से समाज का कल्याण भी किया है. चाणक्य ने अपने नीतिशास्त्र में निजी जीवन, नौकरी, व्यापार, रिश्तें

मित्रता, शत्रु आदि जीवन के विभिन्न पहलुओं पर अपने विचार साझा किए हैं. चाणक्य ने ऐसी महिलाओं का जिक्र किया है,

जो किसी व्यक्ति की जीवनसंगिनी बन जाएं तो उसका जीवन संवरते देर नहीं लगती. आइए जानते हैं कि ऐसी महिलाएं कौन सी हैं.

चाणक्य नीति के अनुसार शांत महिला को लक्ष्मी का रूप माना जाता है. ऐसे में अगर किसी पुरुष के

जीवन में शांत चित्त वाली महिला पत्नी बनकर आए तो वह न केवल घर को संवार देती है

बल्कि परिवार में एका और सुख-शांति भी बनाए रखती है, जिससे उस परिवार को तरक्की करते देर नहीं लगती