ऐसी स्त्री के घर में कदम पड़ने से होता है बड़ा नुकसान, जानिए क्या कहती है चाणक्य निति

चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य ने स्त्रियों की उन बातों के बारे में बताया है जो समाज के लिए ठीक नहीं हैं।  

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि ऐसी तीन महिलाओं से दूर ही रहना चाहिए, क्योंकि ये महिलाएं घर को बरबाद कर सकती हैं।

इधर की बात उधर करने वाली स्त्री  आचार्य चाणक्य का कहना है कि अगर किसी महिला में चुगली करने की

आदत हो तो यह घातक साबित हो सकता है।  ऐसी महिला न केवल अपने घर के राज खोलती है, बल्कि दुनिया को इसके बारे में बताकर दूसरों को

नुकसान भी पहुंचाती है।  ऐसे में दोनों परिवारों के बीच गलतफहमियां पैदा हो जाती हैं, जिसके परिणाम बहुत खतरनाक हो सकते हैं।

गुस्से में रहने वाली स्त्री  आचार्य चाणक्य का कहना है कि अगर कोई महिला हमेशा गुस्से में रहती है, तो उसके परिवार में हमेशा झगड़े होते रहेंगे।  

वैसे मनुष्य को यह भी पता होना चाहिए कि क्रोध को कैसे नियंत्रित किया  जाए।  लेकिन फिर भी, यदि परिवार में स्त्री-पुरुष दोनों क्रोधित हैं,

तो अशांति होगी और परिवार टूट जाएगा।  क्रोध एक ऐसी भावना है जिसे रोका नहीं जा सकता, लेकिन नियंत्रित किया जा सकता है।

झूठ बोलने वाली स्त्री  आचार्य चाणकण ने कहा है कि यदि परिवार में स्त्री को झूठ बोलने की आदत है तो वह हर बात पर झूठ बोलती है,

ताकि घर की कमान उसके हाथों में रहे।  लेकिन बाद में यह एक बुरी आदत बन जाती है और जब

सच्चाई सामने आती है तो ऐसी महिला का कोई भी सम्मान नहीं करेगा और पारिवारिक सुख पर ग्रहण लग सकता है।