स्त्री कर रही हों ये काम तो पुरुष तुरंत हटा लें अपनी नजरें, जानिए क्या कहती है चाणक्य निति

आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतियों में पुरुषों के लिए कुछ खास बातों का जिक्र  किया है, जिसके अनुसार पुरुषों को भूलकर भी उन कामों को नहीं करना चाहिए।

इसे पढ़ने और जानने के बावजूद यदि कोई लड़का या पुरुष ऐसा करता है तो जीवन में उसका पतन शुरू हो जाता है

जी हां, आचार्य चाणक्य के अनुसार पुरुषों को यह काम बिल्कुल नहीं करना चाहिए, नहीं तो परिणाम अच्छे नहीं आते।

भोजन करती महिलाओं को न देखें  हालांकि, आजकल व्यवहार में बदलाव के साथ महिलाएं भी पुरुषों के बराबर बैठकर खाना खाने लगी हैं,

लेकिन आचार्य चाणक्य की किताब एथिक्स में इस बारे में क्या लिखा है, यह तो  आप जानते ही होंगे।  आचार्य चाणक्य का कहना है कि किसी भी पुरुष को खाना

खाना खाते समय किसी महिला की ओर नहीं देखना चाहिए।  यह शिष्टाचार के खिलाफ  है और खाने वाली महिला भी परेशान हो जाती है और ठीक से नहीं खा पाती है।

कपड़े संभालती महिलाएं  आपने अक्सर देखा होगा कि अगर कोई महिला या लड़की अपने कपड़े ठीक कर रही होती है

तो पुरुषों की नजर उसकी तरफ जरूर जाती है।  चाणक्य के नीति शास्त्र में इसे अपराध माना गया है।

चाणक्य कहते हैं कि पुरुषों को गलती से भी महिलाओं को कपड़े ठीक करते हुए नहीं देखना चाहिए।  

साथ ही पुरुषों को महिलाओं को छींकते और जम्हाई लेते हुए नहीं देखना चाहिए।  यह पुरुषों की गरिमा के खिलाफ है।

श्रृंगार करती महिलाओं को न देखें  कई बार जब महिलाएं मेकअप करती हैं तो पुरुष उनकी तरफ देखने लगते हैं।  पुरुषों को ऐसा नहीं करना चाहिए।

खासतौर पर पुरुषों को काजल लगाती महिलाओं की तरफ नहीं देखना चाहिए।

इतना ही नहीं महिलाओं को अपनी या अपने बच्चों की तेल से मालिश करते देखना पुरुषों के लिए उचित नहीं माना जाता है।