Apple AirTag: Lufthansa एयरलाइंस ने लगाई रोक, नहीं ले जा सकेंगे आप इस प्रोडक्ट को हवाई जहाज में

Apple AirTag Ban on this Airlines:  Apple के हर उत्पाद के लिए लोगों का बहुत बड़ा क्रेज है।  

Apple उत्पादों की लोकप्रियता का कारण उपयोगकर्ताओं के लिए इसकी विशेषताएं और सुरक्षा है।  

लेकिन एक मामले में कंपनी के एक प्रोडक्ट को उसके ज्यादा फीचर्स की वजह से बैन कर दिया गया है।  

जी हां, हम बात कर रहे हैं Apple AirTag की।  बहुत से लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।  

कंपनी ने ICAO गाइडलाइंस का हवाला देकर लागू किया नियम  रिपोर्ट के मुताबिक, एयरलाइन ने आईसीएओ की गाइडलाइंस का हवाला

देते हुए इस संबंध में एक नोटिफिकेशन जारी किया है।  एपल इनसाइडर की एक रिपोर्ट के मुताबिक बैगेज ट्रैकर्स

खतरनाक सामानों का हिस्सा हैं।  इसके अलावा ट्रांसमिशन फंक्शन के लिए फ्लाइट में ट्रैकर को स्विच ऑफ करना पड़ता है।  

हालांकि, कुछ रिपोर्ट्स का कहना है कि यह दावा झूठा है।  संदर्भित आईसीएओ दिशानिर्देश लिथियम-आयन बैटरी वाले उपकरणों के लिए हैं।

जरा लगेज को लेकर पूरा नियम भी जान लें   नियमों के मुताबिक 15 इंच की स्क्रीन वाला एपल मैकबुक प्रो (सितंबर 2015 से फरवरी 2017 के बीच खरीदा गया)

प्रतिबंधित श्रेणी में शामिल है।  Apple Airtags इससे काफी छोटी बैटरी पर काम करता है।  

इसमें एक CR2032 सेल का इस्तेमाल किया गया है, जो लिथियम-आयन बैटरी नहीं है।  इसलिए एयरटैग

आईसीएओ दिशानिर्देशों के तहत इस श्रेणी में नहीं आते हैं।  यदि एयरटैग्स में प्रयुक्त CR2032 सेल को खतरनाक माना जाता है,

तो कई स्मार्टवॉच को इन-फ्लाइट उपयोग से भी प्रतिबंधित किया जा सकता है।  हालांकि एयरलाइन ने

प्रतिबंध की कोई ठोस वजह नहीं बताई।  कई रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है  कि कंपनी ने अपने कुप्रबंधन को छिपाने के लिए यह कदम उठाया है।